अगर इंफोसिस के IPO में लगाए होते 9,500 रुपये तो आज 15 करोड़ के मालिक होते!


हाइलाइट्स

इंफोसिस एंप्लॉयीज की संख्या बढ़कर 3,45,218 हो गई है.
पिछले दो साल में कंपनी की हायरिंग 2 गुना से ज्यादा हो गई है.
सितंबर तिमाही में कंपनी की कंसोलिडेटेड आय 36,538 करोड़ रुपये पर रही है.

नई दिल्‍ली. आज इंफोसिस (Infosys) दुनियाभर की नामचीन कंपनियों में शुमार है. 2 जुलाई, 1981 को 7 इंजीनियर्स ने मिलकर पुणे में इंफ़ोसिस कंसल्टेंट्स प्राइवेट लिमिटेड की स्‍थापना की थी. 40 वर्षों के अपने सफर में कंपनी ने लगभग 8 लाख करोड़ की वैल्यूएशन बनाई और लगभग तीन लाख एम्पलॉई यहां जॉब करते हैं. यही नहीं कंपनी ने निवेशकों को भी खूब मुनाफा दिया है. कंपनी का आईपीओ 29 साल पहले आया था. इंफोसिस शेयर का इश्‍यू प्राइस 95 रुपये था. आज शेयर की कीमत बढ़कर 1,521 रुपये (Infosys Share Price) हो चुकी है.

खास बात यह है कि इंफोसिस के आईपीओ को निवेशकों को बहुत हल्‍के में लिया था.n1993 में आया इंफोसिस आईपीओ पूरा नहीं भरा था. इस आईपीओ मॉर्गन स्‍टेनली, वल्‍लभ भंसाली और वीजी सिद्दार्थ जैसे महशूहर निवेशकों ने पैसा लगाया था. खास बात यह थी इंफोसिस के शेयर इश्‍यू प्राइस से 52 फीसदी प्रीमियम पर लिस्‍ट हुए थे. इस तरह लिस्‍ट होते ही इंफोसिस शेयर निवेशकों को खूब मुनाफा दिया था.

ये भी पढ़ें-   Share Market Today: शेयर बाजार में लगातार दूसरे दिन गिरावट, निवेशकों को ₹5.5 लाख करोड़ का हुआ नुकसान

8 बार कंपनी दे चुकी है बोनस शेयर
मनीकंट्रोल की एक रिपोर्ट के अनुसार, इंफोसिस लिस्टिंग के बाद से अब तक 8 बार बोनस जारी कर चुकी है और एक बार शेयर विभाजन भी कर चुकी है. एक दिलचस्प बात यह भी है कि अगर आईपीओ में मिले महज 100 शेयर को किसी निवेशक ने नहीं बेचा है तो अब उनके शेयरों की कुल संख्या 102400 हो गई है. इंफोसिस का शेयर पिछले एक साल में दबाव में हैं. एक साल में यह शेयर 16.44 फीसदी टूट चुका है.

9,500 रुपये के बन गए 15 करोड़
अगर किसी निवेशक को इंफोसिस के आईपीओ में 9,500 रुपये लगाकर 100 शेयर खरीदे थे और अपने निवेश को बनाकर रखा है, तो आज वह करोड़पति बन चुका है. ऐसा इसलिए है, क्‍योंकि 8 बार बोनस शेयर देने और एक बार शेयर स्प्लिट होने के कारण शेयरों की संख्‍या अब 102400 हो चुकी है. अब शेयर का रेट 1,521 रुपये हो चुकी है. इस तरह अब 102400 शेयरों की कीमत 155,750,400 रुपये हो चुकी है.

दूसरी तिमाही में बढ़ा मुनाफा
वित्त वर्ष (2022-23) की दूसरी तिमाही में इंफोसिस (Infosys) का मुनाफा 11 फीसदी बढ़कर 6,021 करोड़ रुपये हो गया है. पिछले वित्त वर्ष की सितंबर तिमाही में इंफोसिस का मुनाफा 5,421 करोड़ रुपये पर रहा था. कंपनी के मुनाफे में सालाना आधार पर 11.1 फीसदी, जबकि तिमाही आधार पर इसमें 12.3 फीसदी की बढ़त देखने को मिली है.

Tags: Business news in hindi, Infosys, Multibagger stock, Stock market



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *