PPF : कंपाउंडिंग का फायदा देता है पीपीएफ खाता, रिटायरमेंट के दिन आपके पास होंगे सवा 2 करोड़ रुपये, कैसे


हाइलाइट्स

पीएफ खाता 15 साल में हो जाता है परिपक्‍व.
मैच्‍योरिटी अवधि में भी किया जा सकता है इजाफा.
3 तरह से टैक्‍स लाभ पीएफ खाते में निवेश पर मिलता है.

नई दिल्‍ली. पब्लिक प्रोविडेंट फंड (PPF) सर्वाधिक लोकप्रिय सेविंग्स स्कीम है. इस सुरक्षित निवेश योजना में शानदार ब्‍याज तो मिलता ही है, साथ ही टैक्‍स बचत भी होती है. इसी वजह से अब पीपीएफ में निवेश करने वालों की संख्‍या बढ़ रही है. अगर पीपीएफ में सही तरीके से निवेश किया जाए तो रिटायरमेंट के वक्त आपके हाथ में करोड़ों रुपये का टैक्स फ्री फंड होगा. पीपीएफ में पैसे पर चक्रवृद्धि ब्‍याज मिलता है. कंपाउंडिंग की यही खासियत पैसे को बढ़ाती है. फिलहाल पीपीएफ खाते में जमा रकम पर सरकार 7.1 प्रतिशत की दर से ब्याज दे रही है.

पीपीएफ में कोई भी भारतीय निवेश कर सकता है. पीपीएफ खाता डाकघर अथवा किसी भी बैंक की शाखा में खुलवाया जा सकता है. पीपीएफ अकाउंट में प्रति वर्ष कम से कम 500 रुपये तथा अधिकतम 1,50,000 रुपये तक जमा करवाए जा सकते हैं. इस रकम का ब्याज़ हर वित्तवर्ष के आखिरी दिन खाते में जोड़ दिया जाता है. यह EEE कैटेगरी की स्कीम है. इसका मतलब है कि इसमें हर साल जमा करवाई जाने वाली राशि पर टैक्स नहीं लगता, इस राशि पर प्रति वर्ष हासिल होने वाला ब्‍याज और मैच्योरिटी के समय मिलने वाली पूरी राशि टैक्‍स फ्री होती है.

तस्‍वीरों में- इन म्‍यूचुअल फंड स्‍कीम्‍स ने साल भर में दिया 25 फीसदी तक का रिटर्न, 100 रुपये से शुरू कर सकते हैं निवेश

कैसे करोड़पति बनाएगा पीपीएफ
पीपीएफ में जल्‍द निवेश शुरू करने और निवेश को 60 साल की आयु तक बनाए रखने पर एक व्‍यक्ति रिटायमेंट के लिए करोड़ों रुपये का फंड बना सकता है. पीपीएफ खाता 15 साल में मैच्‍योर होता है. लेकिन, खाते की अवधि मैच्‍योरिटी के बाद भी पांच-पांच साल के लिए बढ़ाई जा सकती है. अगर कोई व्‍यक्ति 25 वर्ष की आयु में PPF खाता खुलवाता है और हर वर्ष 1 अप्रैल को अपने खाते में डेढ़ लाख रुपये जमा करवाता है, तो 7.1 फीसदी की ब्‍याज दर से अगले साल 31 मार्च को PPF खाते में 10,650 रुपये ब्‍याज के रूप में जमा होंगे.

यह 1 अप्रैल को शुरू होने वाले अगले वित्तवर्ष के पहले दिन खाते के बैलेन्स को 1,60,650 रुपये कर देगा. खाता खोलने के दूसरे वित्तवर्ष में जमा करवाए गए डेढ़ लाख रुपये जुड़ने पर यह रकम बढ़कर 3,10,650 रुपये हो जाएगी. दूसरे साल खाताधारक को 3,10,650 रुपये की रकम पर ब्याज 22,056 रुपये ब्‍याज मिलेगा. इसी तरह निवेशक हर वर्ष 1 अप्रैल को खाते में डेढ़ लाख जमा करवाता रहे तो परिपक्वता के 15 साल पूरे होने पर पीपीएफ खाते में 40,68,209 रुपये हो जाएंगे. इनमें से 22,50,000 रुपये मूल राशि और 18,18,209 रुपये ब्‍याज के होंगे.

5-5 साल बढ़ानी होगी मैच्‍योरिटी
PPF खाते को परिपक्वता से पहले ही आवेदन कर पांच साल के लिए बढ़ाया जा सकता है. 25 साल की आयु से निवेश कर रहा निवेशक खाते की परिपक्‍वता पर 40 साल का हो जाएगा. इसके बाद PPF खाते को पांच साल के लिए एक्सटेंड करके पहले की तरह ही बाद मेंं निवेश का सालाना रूटीन बरकरार रखता है तो निवेशक के 45 साल के होने तक खाते में कुल जमा राशि 66,58,288 रुपये हो जाएगी.

ये भी पढ़ें-   NPS Tax Relief : प्राइवेट कर्मचारियों को भी एनपीएस पर 24 फीसदी टैक्‍स छूट! पेंशन पर भी 50 हजार तक राहत

अब फिर उसे खाते को पांच साल के लिए विस्तार देना होगा और पहले की तरह निवेश जारी रखना होगा. अगली बार मैच्योरिटी के वक्त, यानी खाताधारक की 50 वर्ष की आयु में PPF खाते में कुल रकम 1,03,08,014 रुपये हो जाएगी. एक बार फिर पांच साल के लिए खाते को बढ़ाने पर खाताधारक 55 साल का होने तक डेढ़ लाख रुपये हर साल निवेश कर पाएगा. पांच साल की मैच्‍योरिटी पर पीपीएफ खाते में 1,54,50,910 रुपये हो चुके होंगे.

2 करोड़ से ऊपर होगा फंड
इस बार पीपीएफ खाते का आखिरी एक्सटेंशन हासिल करना होगा और हर साल लगातार निवेश करने के बाद जब PPF खाता परिपक्व होगा, यानी जब खाताधारक 60 साल का होगा, तब उसके खाते में कुल जमा राशि 2,26,97,857 रुपये होगी. इसमें अकाउंट होल्‍डर का कुल निवेश 52,50,000 रुपये होगा इस निवेश पर मिले ब्‍याज की रकम 1,74,47,857 रुपये होगी.

Tags: Business news in hindi, Investment, Money Making Tips, PPF, PPF account, Small Savings Schemes



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *